रहिशियत का पता
जेब के भारी होने से पता चलता तो
हर माँ गरीब होती
और हर इश्क़ बेजार होता।


Comments